प्रेग्नेंसी का सही समय, जानिए ओवुलेशन पीरियड क्या है?

ओवुलेशन क्या है? | What is the meaning of ovulation in hindi

ओवुलेशन क्या होता है? (Ovulation meaning in Hindi)

प्रेग्नेंसी हर महिला के जीवन का एक खास एहसास है, और यदि आप माँ बनने के बारे में सोच रही है तो आपको मासिक धर्म, ओवुलेशन और आपके गर्भधारण से जुडी चीज़ो को समझना जरुरी है। क्या आप जानती है मासिक धर्म से पहले और बाद के कुछ ऐसे दिन होते है जब कोशिश करने से आपके गर्भधारण की संभावनाएं बढ़ जाती है। इन्ही दिनों को मेडिकल भाषा में ओवुलेशन या ओवुलेशन पीरियड कहा जाता है। इसीलिए यदि आप गर्भधारण की समस्याओं से गुजर रही है तो ओवुलेशन के बारे में जानकारी होना जल्द से जल्द गर्भधारण में आपकी मदत कर सकता है।  

ये तो हम सब जानते है के मासिक धर्म के दौरान महिला के अंडाशय में कई अंडे बनते है, पर उनमे से एक ही स्वस्थ विकसित अंडा अंडाशय से रिलीज़ होता है। इसी एग रिलीज़ की प्रक्रिया को मेडिकल भाषा में ओवुलेशन कहा जाता है। 

ओवुलेशन मासिक धर्म की एक जरुरी प्रक्रिया है जो फर्टिलाइजेशन की प्रक्रिया को बढ़ावा देती है। क्योंकि जब अंडा अंडाशय से निकलकर फॉलोपियन ट्यूब में जायेगा तब ही तो शुक्राणु के साथ उसका मिलन हो पायेगा। इसी वजह से यदि कोई महिला गर्भधारण की कोशिश कर रही हो तो उसे ओवुलेशन के दौरान प्रयास करने के लिए कहा जाता है।  क्योंकि इस समय प्रयास करने से कंसीव करने के चान्सेस कई गुना बढ़ जाते है।   

इर्रेगुलर पीरियड्स और ओवुलेशन 

आपके पीरियड्स और ओवुलेशन एक दूसरे पर निर्भर है। इसीलिए यदि पीरियड्स इर्रेगुलर है तो ओवुलेशन का असमय होना स्वाभाविक है। इन केसेस में अक्सर  पहले पीरियड्स को रेगुलर करने पर ध्यान दिया जाता है। इन समस्याओं को दूर करने के लिए डॉक्टर आमतौर पर जीवनशैली और खान-पान में सकारात्मक बदलाव लाने का सुझाव देते हैं।


अनियमित पीरियड्स और ओवुलेशन की समस्या से गर्भधारण में कठिनाई?

अनुभवी डॉक्टरों से परामर्श के लिए यहाँ क्लिक करे! 


ओवुलेशन कितने दिन में होता है?

ओवुलेशन पीरियड (ovulation period) एक महिला के मासिक धर्म के दौरान का समय है जो हर महिला के लिए अलग होता है। मान लीजिएआपकी पीरियड सायकल २८ से ३५ दिन की है तो सामान्यतः आपके पीरियड ख़त्म होने के १२ से १६ वें दिन से आपका ओवुलेशन पीरियड शुरू होता है।

जब अंडा अंडाशय से निकलकर फॉलोपियन ट्यूब्स में चला जाता है  तो स्पर्म से जल्दी फर्टिलाइज होने की संभावनाएं बढ़ जाती है और अगर फर्टिलाइज होने के बाद  ये अंडा गर्भाशय में आकर इंप्‍लांट हो जाता है तो प्रेग्‍नेंसी की प्रक्रिया उतनी ही जल्दी शुरू हो जाती है।

पीरियड के कितने दिन बाद ओवुलेशन होता है?

Period ke kitne din baad ovulation hota hai?

ओवुलेशन कितने दिन में होता है? पीरियडस से करीबन १३ -१५  दिन पहले ओवुलेशन होता है। परंतु मासिक धर्म की तरह ही ये समय हर महिला के लिए अलग होता है। यदि आप ओवुलेशन के दिन के बारे में जानना चाहती है तो उदहारण के लिए यदि आपका मासिक चक्र २८ दिनों का है, तो ओवुलेशन पीरियड्स के बाद १४ वें दिन के आसपास होगा जिन दिनों में आप सबसे ज्यादा फर्टाइल होंगी। 

ओवुलेशन कितने समय तक होता है?

Ovulation kitne din tak rahta hai?

आपके शरीर की फर्टाइल विंडो ओवुलेशन के लगभग ५ दिन पहले से आरंभ होती है और ओवुलेशन के १२ से ४८ घंटों के बाद समाप्त हो जाती है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि अक्सर शुक्राणु महिला के शरीर में ४-५  दिनों तक जीवित रह सकता है, जबकि ओवुलेशन के बाद अंडा २४ घंटे से भी कम समय तक जीवित रहता है।  इसीलिए आपके ओवुलेशन पीरियड को कैलकुलेट कर कंसीव करने की सलाह दी जाती है। 

Ovulation के लक्षण

Ovulation signs and symptoms in hindi

ओवुलेशन के कुछ ऐसे लक्षण है जो आपको इस स्तिथी के संकेत देते है। जैसे:

  • पेट के निचले हिस्से में दर्द होना।  
  • बेसल बॉडी टेम्प्रेचर में परिवर्तन होना। 
  • सरविकल म्यूकस में बदलाव आना।  
  • सरविकल म्यूकस का अंडे की सफेदी के समान पतला, चिकना और स्पष्ट होना।  
  • सर्विक्स का कोमल होकर खुल जाना।  
  • मूड स्विंग्स होना।  
  • फॉलिकल स्टीमुलेटिंग हार्मोन (FSH) और LH में वृद्धि होना। 
  • सिर में दर्द होना। 
  • स्तनों में संवेदनशीलता महसूस होना। 
  • लीबिड़ो में परिवर्तन होना।  

ओवुलेशन के बाद किन चीजों का ध्यान रखना चाहिए 

ओवुलेशन के बाद, फर्टाइल विंडो आमतौर पर लगभग १२-२४ घंटों तक रहती है और यदि आप इन चीज़ो का ध्यान रखे तो ओवुलेशन के बाद गर्भवती होने में आपको जरूर मदत मिलेगी।

  • अपने मासिक धर्म पर ख़ास ध्यान दे।   
  • स्वस्थ वजन बनाए रखे।   
  • संतुलित आहार ले।   
  • नियमित व्यायाम करे।   
  • नाशीली चीज़ो से दूर रहे।  
  • स्ट्रेस से दूर रहे।   
  • स्वस्थ वजन बनाये रखे।   
  • इर्रेगुलर पीरियड्स की परेशानी हो तो फर्टिलिटी डॉक्टर से परामर्श करे।   

ओवुलेशन के बाद गर्भधारण

Ovulation ke baad pregnancy ke symptoms

ओवुलेशन के बाद प्रेगनेंसी के लक्षणों को पहचानने में कुछ समय लग सकता है, क्योंकि इन लक्षणों को प्रारंभिक अवस्थाओं में पहचाना बहुत मुश्किल है। फिर भी, कुछ ऐसे लक्षण है जो आपको प्रेग्नेंसी के संकेत दे सकते है:

  • मासिक धर्म का असामान्य होना।   
  • हल्की ब्लीडिंग।  
  • स्वाद बदल जाना।  
  • मूड स्विंग्स।  
  • पेट में दर्द होना।   
  • थकान महसूस करना।  
  • उल्टी आना।  
  • स्तनों में दर्द।  

और कुछ सवाल है? हमारे फर्टिलिटी तज्ञ आपका योग्य तरीके से मार्गदर्शन करेंगे।

ओवुलेशन के बारे में लोग कोनसे प्रश्न सर्च करते है?

ओवुलेशन क्या होता है?

उत्तर: महिला के शरीर से अंडा रिलीज़ होने की प्रक्रिया को मेडिकल भाषा में ओवुलेशन कहा जाता है। ओवुलेशन पीरियड के दौरान एक स्त्री सबसे ज्यादा फर्टाइल होती है।  साथ ही इस दौरान आपके प्राकृतिक रूप से कंसीव करने के चान्सेस बढ़ जाते है। 

पीरियड के कितने दिन पहले ओवुलेशन होता है?

उत्तर: औसतन ओवुलेशन आपकी अगली माहवारी से लगभग २ सप्ताह पहले होता है।

ओवुलेशन पीरियड क्या होता है?

उत्तर: अंडाशय से अंडा रिलीज होकर उसके फैलोपियन ट्यूब में टहरने तक के कालावधि को ओवुलेशन पीरियड कहा जाता है।  

ओवुलेशन पीरियड कितने दिन तक रहता है?

उत्तर: ओवुलेशन पीरियड मासिक धर्म खतम होने लगभग सात दिन बाद शुरू होता है जो मासिक धर्म शुरू होने के २ सप्ताह पहले तक रहता है। 

ओवुलेशन कितने दिन में होता है?

उत्तर: हर महिला के लिए ओवुलेशन का समय अलग होता है ठीक वैसे ही जैसे हर महिला का मासिक चक्र अलग होता है। उदहारण के लिए अगर आपकी सायकल २८ दिन की है तो पीरियड के बाद के १४ वे दिन से आपका ओवुलेशन शुरू होगा।  

ओवुलेशन पीरियड कैसे कैलकुलेट करे?

उत्तर: आम तोर पर महिलाओ में मासिक चक्र २८ से ३५  दिन का होता है, और सामान्यतः आपके पीरियड ख़त्म होने के १२ से  १६  वें दिन से आपका ओवुलेशन पीरियड शुरू होता है।  

ओवुलेशन के लक्षण क्या है?

उत्तर: ५ में से १ महिला को ओवुलेशन के दौरान पेट में दर्द महसूस होता है। साथ ही कुछ महिलाएं  कमर में हल्का दर्द, सिर दर्द, शरीर के तापमान में बदलाव, और अन्य लक्षण महसूस करती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Book an Appointment